NEW EDUCATION POLICY (NEP) 2020 – राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020

आज हम बहुत महत्वपूर्ण विशेष New Education Policy 2020 पर बात करेंगें | जो कहीं ना कहीं आपकी Life में परिवर्तन लाने वाली है या आपके related लोगों की Life में परिवर्तन लाने वाली है वह चाहे आप के भाई-बहन हो या आप खुद एक स्टूडेंट हो | तो बहुत बड़ा Education Policy में परिवर्तन आने वाला है | यह जो Policy आने वाली है उसे higher education bill के नाम से जाना जाएगा| इसे कैबिनेट ने अप्रूवल दे दी है पर पार्लियामेंट में अभी नहीं मिला है |आपको पता होगा कि जब कोई bill पास होता है तो वह पार्लियामेंट में जाता है, पार्लियामेंट में पास होने के बाद Act बनता है|फिलहाल यह policy एक bill ही है पर यह जल्दी पार्लियामेंट में पास कर दिया जाएगा क्योंकि मेजोरिटी गवर्नमेंट की ही है तो इसलिए यह bill आराम से पास हो जाएगा|

इस आर्टिकल में हम देखेंगे कि क्या-क्या Education में परिवर्तन हुआ| हमारे Education system कब बना था? किसने बनाया था ?और हमारे सिस्टम को अपडेट करने की बात कब से चल रही थी । यह आर्टिकल 1 स्कूल के बच्चे से लेकर1 कॉलेज के बच्चे तक महत्वपूर्ण है और इसे जानना भी जरूरी है

1st Education Policy

  1. हमारे देश भारत की पहली Education Policy 1968 को बनाई गई  थी |
  2. इस पॉलिसी के अंतर्गत भारत के लोगों के बीच education को प्रमोट करना था
  3. ताकि वे सभी लोग शिक्षा को महत्व दें और इसमें रुचि लें |
  4. इस पॉलिसी का मुख्य उद्देश्य यहां था कि भारत में अशिक्षा को हटाया जाए और गांव एवं शहरों में स्कूल और कॉलेज को बनवाया जाए |
  5. 1968 एजुकेशन पॉलिसी को लागू करने वाली गवर्नमेंट इंदिरा गांधी की थी|

मुख्य विशेषता-

  • शिक्षा राष्ट्रीय महत्त्व का विषय है|
  • शिक्षा की व्यवस्था केंद्र और राज्य सरकारों का संयुक्त उत्तरदायित्व है|
  • शिक्षा पर केंद्रीय बजट का 6% व्यय किया जाएगा|
  • संपूर्ण देश के लिए 10+2+3 शिक्षा संरचना लागू की जाएगी|
  • 14 वर्ष की आयु तक अनिवार्य और निःशुल्क प्राथमिक शिक्षा की व्यवस्था की जाएगी|

2nd Education Policy

  1. हमारे देश की दूसरी Education Policy 1986 को बनाई गई थी |
  2. इस पॉलिसी को लागू करने वाली गवर्नमेंट राजीव गांधी की थी

मुख्य विशेषता-

  • 10+2+3 शैक्षित ढांचे|
  • +2 मैं शिक्षा का व्यवसायीकरण शिक्षा दी जाएगी|
  • रोजगार एवं जन शक्ति योजना से डिग्री की संबद्धता|
  • बाल केंद्रित शिक्षा चलेगी|
  • सतत एम व्यापार आकल पद्धति लागू होगी|
  • समावेशी शिक्षा लागू होगी|
  • ऑपरेशन ब्लैक बोर्ड|

New Education Policy 2020-

जो Education policy को हम लोग follow कर रहे थे वह 1986 का सिस्टम था | जो 1986 में राजीव गांधी गवर्नमेंट ने लागू किया था और उसके 34 साल बाद नई एजुकेशन पॉलिसी को लागू किया गया है|

NEP को लागू करने की शुरुआत-

New Education Policy 2020 के बारे में 2014 में सोचा गया था जब गवर्नमेंट में इलेक्शन होने वाले थे तो इस गवर्नमेंट ने अपने मैनी फेस्टिवल में कहा था कि हम एजुकेशन में परिवर्तन लाएंगे और हम एक नया एजुकेशन पॉलिसी बनाएंगे | इन New Education Policy 2020 को बनाने के लिए दो कमिटी बनाई गई थी –

पहले कमिटी-

  • पहले कमिटी 2015 को बनाई गई थी जिसके हेड T. SR. Subhramanyan थे |
  • इस कमेटी में पांच मेंबर थे।
  • इसका कमिटी को काम दिया गया था कि आप थोड़ी बहुत रिसर्च करो और हमें बताओ कि इस पॉलिसी में क्या-क्या परिवर्तन लाना चाहिए ताकि हमारे एजुकेशन सिस्टम ओर भी अच्छा हो जाए|
  •  इस कमेटी ने एजुकेशन को अपडेट करने के लिए कुछ Recommendation Points दिए थे |
  • उनमें से कुछ point अच्छे थे तो कुछ नहीं भी |
  • फाइनली इसे accept नहीं किया गया|

दूसरी कमेटी-

  •  दूसरी कमेटी 2016 में बनाई गई थी|
  • जिसके हैड Dr. K. Sathurirangan जी है
  •  इन्होंने 31 मई 2019 को एजुकेशन में परिवर्तन आने चाहिए उसके कुछ Recommendation Point गवर्नमेंट के सामने present किए थे|
  • गवर्नमेंट ने 29 जुलाई 2020 को उन सभी Recommendation Point को Accept कर लिया था |
  • पर अभी पार्लियामेंट ने Accept नहीं किया है पर जल्दी Accept कर लेंगे |
  • इस सिस्टम के अंतर्गत बहुत सारे Important Point हैं जो Dr. K. Sathurirangan ने दिए हैं | उन सभी पॉइंट को हम one by one डिस्कस करेंगे|
  1. MHRD का नाम बदलकर Education ministry कर दिया गया है |
  2. हमारा जो बेसिक एजुकेशन सिस्टम होता था वह 10+2 पर आधारित था यानी हम 10वी के बाद Board देते थे और उसके बाद +1 और + 2 देने के बाद College जाते थे| पर अब से 5+3+3+4 में बदल दिया गया है|

5+3+3+4 क्या है-

5 = यह पहला part होगा | जब बच्चा शुरू में स्कूल जाएगा तो उसे pnc, nc, k.g, 1,2 क्लास तक पढ़ाया जाएगा | बच्चों के ये जो 5 साल यानी pnc, nc, k.g, 1,2 क्लास होंगे उनमें उन्हें ज्यादा जबरदस्ती के साथ नहीं पढ़ाया जाएगा | यह बच्चों का फाउंडेशन स्टेज होगा और उन्हें गेम्स के साथ पढ़ाया जाएगा |

3 = यह दूसरा Part होगा | इसमें3, 4, 5 कक्षा शामिल होंगी | जब बच्चा 3, 4, 5, कक्षा में पहुंचेगा तो उसे Basic Analytics Subject के बारे में बताया जाएगा जैसे math, science, humanities आदि |But इसमें जो पढ़ाने का सिस्टम होगा वह प्रैक्टिकल होगा यानी बच्चों को समझाने पर ज्यादा जोर दिया जाएगा ना कि किताबों को रटने पर|

3 = यह तीसरा Part होगा | इसमें 6, 7, 8 कक्षा आएंगे | जब बच्चा 5 वी कक्षा को पास करके 6वी, 7वी, 8वी कक्षा में पहुंचेगा तो उसके skill development पर सबसे ज्यादा जोर दिया जाएगा | उसे coding, software development आदि सिखाई जाएंगे यहां ताकि उसे Project भी दिए जाएंगे अर्थात बच्चों को Coding के बारे में बताकर उसे थोड़ा-सा प्रोजेक्ट दे दिया जाएगा | फिलहाल यह सभी चीजें चाइना में बहुत पहले स्टार्ट हो गई थी

4 = यह चौथा Part होगा |इसमें 9, 10, 11, 12 शिक्षा आएंगी | इसमें साफ कह दिया गया है कि बच्चों को analytical Approch के साथ पढ़ाया जाएगा और उस को समझाया जाएगा कि उसका गोल क्या है? जैसे किसी बच्चे को क्रिकेट बहुत पसंद है तो वह टीचर Responsibility होगी कि उसे जबरजस्ती पढ़ने के लिए परेशान ना करें कि “बेटा तू पढ़ ले” यदि वह अच्छा क्रिकेट खेलता है तो उसे Just थोड़ा-बहुत knowledge लेकर वह क्रिकेट मैं अपना ध्यान लगा सकता है |

After 12-

After 12 के बाद भी New Education Policy 2020 लागू होगी इसमे एक multiple entry or exit system with credit transfer system बनाया जायेगा | इस सिस्टम के अंतर्गत यदि आप कॉलेज में 1 साल, 2 साल, 3 साल, 4 साल पढ़ाई करने पर आपको Certificate, Diploma, Degree दी जाएगी|

  • 1 साल कॉलेज में पढ़ाई करके पास होने पर – Certificate
  • 2 साल कॉलेज में पढ़ाई करके पास होने पर – Diploma
  • 3 या 4 साल कॉलेज में पढ़ाई करके पास होने पर – Degree

यहां तक कि अगर आप Degree लेने के लिए कॉलेज जाते हैं और आप 1 साल तक पढ़ाई करते हैं लेकिन आपका आगे पढ़ाई करने का मन नहीं करता है| आप कुछ ओर करना चाहते हैं तो आपकी एक साल की वह पढ़ाई बर्बाद नहीं होगी आपको उसका एक Certificate दिया जाएगा | हर एक Level पर Reward मिलेगा और वह रिकॉर्ड एक Academic Bank Of Credit के नाम का एक system बनाया जाएगा जिसमें आप जैसे-जैसे चीजों को सीखते जाएंगे reward लेते जाएंगे उसके Point एक Software में Add होते जाएंगे | जो आपके नाम पर बनवाया जाएगा |

इसका फायदा-

मानकर चलो यदि आप कही इंटरव्यू देने चाहते हैं तो वहां जो आपका इंटरव्यू लेगा वह आपका Credit check कर लेगा और उसे पता चल जाएगा कि आप कितने पढ़े-लिखे हैं| इसका केवल यहा ही एक फ़ायदा नही बल्कि ओर भी फ़ायदे है |

read also : NRC Bill क्या है 

 मुख्य विशेषता-

New Education Policy 2020 की महत्वपूर्ण विशेषता-

  • प्राइवेट और गवर्नमेंट कॉलेज का syllabus और Rule एक जैसा होगा अर्थात हर स्टेज में Same Pattern होगा|
  • इंग्लिश कंपलसरी नहीं होगी | अब बच्चा 5वी कक्षा तक आता है तो वह इंग्लिश, हिंदी यहां तक की वह जिस भाषा में सक्षम हो उसमें पढ़ सकता है|
  • 6 वी कक्षा से Coding Start हो जाएगी| पर यह चाइना में बहुत पहले स्टार्ट हो गई थी
  • 6 से 9 कक्षा के जो exam होंगे और Semester exam होंगेअर्थात 6-6 महीने में एग्जाम होंगे |
  • Report Card मैं बच्चों का overall development लिखा जाएगा |
  • Aptitude test provision होगा जिसमे आप अपने Marks को बढ़ा सकते हैं |
  • The common entrance exam for Universities
  • Open Distance Learning और Online Education को प्रमोट किया जाएगा|
  • बच्चों को Ethics भी पढ़ाया जाएगा जिसमें बच्चों को क्या सही है? क्या गलत है? के बारे में बताया जाएगा|

आप चाहे तो english में Hindhustantime की website पर जाकर पढ़ सकते है

Your Friend

Yourfriend इस हिंदी website के founder है। जो एक प्रोफेशनल Blogger है। इस site का main purpose यही है कि आप को best इनफार्मेशन प्रोविडे की जाए। जिससे आप की knowledge इनक्रीस हो।